by

200 goats working in Google, the company gives the salaries, accommodations and food

200 goats working in Google , the company gives the salaries, accommodations and food : गूगल में काम करती हैं 200 बकरियां, कंपनी बाकायदा देती है सैलरी, रहने की जगह और खाना. खबरें जरा हटके. गूगल में इंसानों के बाद आपने मशीनों को काम करते देखा होगा, लेकिन आपको बता दें कि यहां बकरियां भी काम करती हैं। जी हां, कंपनी बाकायदा इन्हें सैलरी भी देती है। असल में गूगल ने सबसे पहले 2009 में ये अनोखी शुरुआत की थी। उस वक्त कंपनी ने 200 बकरियों को नौकरी पर रखा था, जिससे वो गूगलप्लेक्स ऑफिस में बने पार्क में घास चरें और इससे घास ट्रिम होती रहे। गूगल का मानना है कि घास काटने वाली मशीनों से ध्वनी-वायु प्रदूषण के साथ एनर्जी की बर्बादी होती है। इसके बाद से ही कंपनी समय-समय पर बकरियों को नौकरी पर रखती है। गूगल ने खुद इस बात का खुलासा किया था। याहू ने पहली बार इस्‍तेमाल किया था.

200 goats working in Google

आपको बता दें कि सप्ताह में एक बार ये 200 बकरियां गूगल के बड़े से लॉन में छोड़ दी जाती है और कुछ ही घंटों में वो लंबी घास को सफाचट कर डालती हैं। हालांकि, बकरियां केवल घास ही चरे इसके लिए बकरियों को लाने वाले चरवाहे को इसके लिए खास ट्रेनिंग दी गई है। प्रति बकरी वेतन भी दिया जाता है जो संबंधित एजेंसी में जमा होता है। इसके अलावा बकरियों के रहने और खाने की व्यवस्था भी होती है। कैलिफोर्निया के बाद अब गूगल के कई ऑफिस में इस ‘गूगल गोट्स’ काम करती हैं। आपको बता दें कि इससे पहले 2007 में याहू ने भी अपने लॉन में घास की ट्रिमिंग के लिए बकरियां रखा थी।